FreeCurrencyRates.com

इंडियन आवाज़     22 Jan 2018 03:46:07      انڈین آواز
Ad

सलीम को सलाम – हिन्दू मुस्लिम एकता अभी ज़िंदा है!

amarnath yatra 1

गुजरात के मुख्य मंत्री विजय रुपानी सलीम शेख की खूब तारीफ की और कहा के वह सलीम का नाम राष्ट्रपति बहादुरी अवार्ड के लिए प्रस्तावित करेंगे

‘सलीम शेख का कारनामा उन लोगों के मुंह पर तमाचा है जो मजहब के नाम पर नफरत फैलाते हैं

अंदलीब अख्तर

अपने देश में प्रेम और भाईचारा न सिर्फ ज़िंदा है बल्कि अब भी बहुत मज़बूत है. एक तबके के जरिया तमाम तर नफरत फैलाने की कोशिशों के बावजूद हिन्दू -मुस्लिम भाईचारा टूटने का नाम नहीं ले रहा है। इसकी ताज़ा मिसाल ड्राइवर सलीम शेख है जिसने अपनी जान पर खेल कर दर्जनों अमरनाथ यात्रियों की जान बचा ली

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में जब आतंकवादियों ने सोमवार रात एक बस पर हमला कर दिया और जिसमें सात अमरनाथ यात्रियों की दर्दनाक मौत हो गई और २० अन्य घायल हुए। लेकिन बस के ड्राइवर की बहादुरी और फुर्ती से बहुत से यात्रयों की जान बच गई।

saleem sheikh

 

जब आतंकी बस में बैठे श्रद्धालुओं पर हमला कर रहे थे तब ड्राइवर सलीम शेख ने बहादुरी और बुद्धिमानी का परिचय देते हुए बस की स्पीड बढ़ा दी और सीधे सेना के कैंप में ले जाकर ही दम लिया। सोशल मीडिया पर सलीम शेख की जमकर तारीफ हो रही है। लोग लिख रहे हैं कि दिलेर ड्राइवर सलीम शेख को देश का सलाम एक सच्चे हिंदुस्तानी पर गर्व है हमें।

खबरों के मुताबिक़ जब आतंकियों ने बस पर फायरिंग शुरू की तब ड्राइवर सलीम शेख ने महसूस कर लिया कि अगर उन्होंने बस रोकी तो ये आतंकी कत्ल-ए-आम मचा देंगे। इसी डर के कारण सलीम शेख ने किसी भी हाल में बस को ना रोकने का फैसला किया। ये भी मुमकिन था कि आतंकी बस के ड्राइवर को ही निशाना बना देते लेकिन इसके बावजूद भी वो रुका नहीं। बस को भागता देख आतंकियों ने पहिये में गोली भी मार दी। टायर पंचर होने के बाद भी सलीम ने बस के एक्सीलेटर पर से अपना पैर नहीं हटाया और सुरक्षित जगह पर पहुंचा कर ही दम लिया।

Salam to Saleem who saved lives of many Amarnath Yatris

देश में चारों तरफ इस आतंकी हमले की निंदा हो रही है। इन निंदाओं के बीच ड्राइवर सलीम शेख की खूब तारीफ भी हो रही है

सोशल मीडिया पर यूजर्स सलीम शेख की बहादुरी को सलाम कर रहे हैं। वहीं बहुत से यूजर्स ये भी लिख रहे हैं कि सलीम शेख ने जो किया वो उन लोगों के मुंह पर तमाचा है जो आतंकवाद को एक मजहब से जोड़कर देखते हैं।

गुजरात के मुख्य मंत्री विजय रुपानी सलीम शेख की खूब तारीफ की और कहा के वह सलीम का नाम राष्ट्रपति बहादुरी अवार्ड के लिए प्रस्तावित करेंगे

अस्पताल के बिस्तर पर पड़ी अब बहुत सी माताओं और बहनों के दिल से भी अब बस सलीम के लिए दुआएं निकल रही हैं. सचमुच अगर हमले के वक्त सलीम ने अपनी बहादुरी नहीं दिखाई होती, तो शायद आतंकवादियों की इस करतूत का अंजाम कहीं और भयानक होता.सलीम ने कहा कि खुदा ने मुझे वो ताकत दी कि मैं रुकूं नहीं और बस चलाता रहूं. लगातार फायरिंग हुई इसलिए मैं रुका नहीं, बस चलाता रहा.

वर्ष 2000 के बाद से यह इस सालाना तीर्थयात्रा पर सबसे घातक हमला है।पुलिस ने कहा कि रात करीब आठ बजकर 20 मिनट पर जीजे 09 जेड 9976 पंजीकरण संख्या वाली बस पर खानबल के पास उस समय हमला हुआ जब वह जम्मू जा रही थी।

FOLLOW INDIAN AWAAZ

Follow and like us:
20

Leave a Reply

You have to agree to the comment policy.

Ad

SPORTS

Men’s Hockey: India lose to Belgium 1-2 in summit clash

India lost to Belgium, 1-2 in the summit clash of the first leg of the two-leg Four Nations Invitational tourn ...

Blind Cricket World Cup: India retains title

India have retained the World Cup for the Blind. In the final today, India defeated Pakistan by two wickets at ...

Ad
Ad
Ad
Ad

Archive

January 2018
M T W T F S S
« Dec    
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031  

OPEN HOUSE

Mallya case: India gives fresh set of documents to UK

AMN India has given a fresh set of papers to the UK in the extradition case of businessman Vijay Mallya. Ex ...

@Powered By: Logicsart

Help us, spread the word about INDIAN AWAAZ