FreeCurrencyRates.com

इंडियन आवाज़     20 Feb 2018 09:26:10      انڈین آواز
Ad

मुंबई धमाकाः अबू सलेम और मुस्तफा दौसा समेत 6 आरोपी दोषी करार

AMN

मुंबई की विशेष टाडा अदालत ने 1993 के मुंबई बम विस्‍फोट मामले में मुख्‍य षडयंत्रकारी मुस्‍तफा दौस्‍सा और अबू सालेम सहित पांच अन्‍य को दोषी करार दिया है। सरकारी वकील दीपक साल्‍वे ने बताया है कि एक अन्‍य आरोपी अब्‍दुल कयूम को बरी कर दिया गया है।

पांच लोगों को सेक्‍शन 120बी यानी कॉन्स्पिरेंसी के अंडर कन्विक्शन हुई है और एक को तीन-तीन टाडा के मुताबिक कन्विक्शन हुई है और एक अक्यूज़्ड को जो क्‍यूम करके है उसको एक्‍वीट कर दिया है।

घटना के मुख्‍य षडयंत्रकारी मुस्‍तफा दौस्‍सा को टाडा और अन्‍य संबद्ध अधिनियम के तहत दोषी करार दिया गया है। सालेम को गुजरात से मुंबई हथियार लाने का दोषी पाया गया है।इन सातों अभियुक्‍तों के मुकदमें की सुनवाई मुख्‍य मामले से अलग की गई थी क्‍योंकि उन्‍हें मुख्‍य मामले की सुनवाई के बाद गिरफ्तार किया गया था।

12 मार्च 1993 ये वही दिन है जिस दिन देश की मायानगरी दहल उठी थी। भारतीय इतिहास का वो दिन जिसने जिसने देश में आतंकवाद की नयी परिभाषा गढ दी । इन 12 सीरियल धमाकों में 257 लोग मौत की नींद सो गए। इस मामले के मुख्य आरोपी याकूब मेमन को फांसी की सजा दी जा चुकी है और अब विशेष टाडा अदालत ने शुक्रवार को 7 आरोपियों में से छह को दोषी करार दिया जबकि एक को बरी कर दिया है।

ABU SALEMजिन लोगों को दोषी करार दिया गया उनमें मुस्तफा दौसा, ताहिर मर्चेंट, फिरोज़ खान,अबू सलेम, करीमुल्लाह शेख और रियाज़ सिद्धिकी शामिल हैं । दौसा को हत्या, षडयंत्र और आतंकी गतिविधियों के लिए टाडा अधिनियम, हथियार कानून , विस्फोटक कानून के अलावा आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी करार दिया। जबकि अबू सलेम को धमाकों के लिए हथियारों को गुजरात से मुंबई लाने की साजिश में शामिल होने के लिए दोषी ठहराया गया। मामले में अब्दुल कयूम को सभी आरोपों से बरी कर दिया गया।

हालांकि इन सभी आरोपियों को देश के खिलाफ जंग छेडने के आरोपों से बरी कर दिया गया है । अदालत सभी आरोपियों की सजा पर जिरह 19 जून यानि सोमवार से शुरू करेगी । अबू सलेम मामले के मुख्य साजिशकर्ताओं में शामिल रहा है । उसे 2005 में पुर्तगाल से प्रत्यर्पित किया गया था। सलेम को अदालत फांसी की सजा नहीं दे सकती है क्योंकि प्रत्यर्पण संधि के तहत उसे फांसी नहीं दी जा सकती है। सलेम पर भारत में फर्जी पासपोर्ट और हत्या समेत तमाम आपराधिक मामले हैं। सलेम इस वक्त नवी मुंबई की जेल में बंद है। धमाकों के मामलों में अदालत ने दूसरे चरण में आरोपियों पर यह फैसला दिया है। इससे पहले, धमाकों के केस में शुरुआती 123 आरोपियों का ट्रायल 2006 में खत्म हुआ था, जिसमें 100 दोषियों को सजा सुनाई गई थी । . सजा पाने वालों में अभिनेता संजय दत्त भी शामिल थे जिन्हें आर्म्स एक्ट के तहत सजा मिली थी । वहीं साल 2015 में याकूब मेमन को दोषी मानते हुए फांसी की सजा दी गई थी। वहीं इन धमाकों का मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम 1995 से फरार है जिसने पूरी साजिश को रचा था।

FOLLOW INDIAN AWAAZ

1993 के इन धमाकों को 25 साल हो गए हैं। लोगों के जख्म भर गए हैं लेकिन अभी इंसाफ होना बाकी है । पहले याकूब मेमन को फांसी और अब 6 और लोगों को दोषी ठहराने के बाद इंसाफ की आस जगी है लेकिन मामला अभी ऊंची अदालतों में जाएगा इसलिए इंसाफ की लडाई अभी लंबी चलेगी।

Follow and like us:
20

Leave a Reply

You have to agree to the comment policy.

Ad

SPORTS

Indian women eye maiden double series win in SA

The Indian women’s cricket team would be aiming for quick recovery from a rare setback when it takes on Sout ...

Airtel Delhi Half Marathon 2017 raises a record INR 8.10 Crore

HARPAL SINGH BEDI / New Delhi The 10th edition of the Airtel Delhi Half Marathon (ADHM) shattered all previou ...

Ad
Ad
Ad
Ad

Archive

February 2018
M T W T F S S
« Jan    
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728  

OPEN HOUSE

Mallya case: India gives fresh set of documents to UK

AMN India has given a fresh set of papers to the UK in the extradition case of businessman Vijay Mallya. Ex ...

@Powered By: Logicsart

Help us, spread the word about INDIAN AWAAZ