Ad
FreeCurrencyRates.com

इंडियन आवाज़     15 Nov 2018 10:03:07      انڈین آواز
Ad

पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का अंतिम संस्कार पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ किया गया

vajpayee flame

AMN

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार आज शाम पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ किया गया। उनके पार्थिव शरीर को उनकी पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्य ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच मुखाग्नि दी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्मृति स्थल पर दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की।
थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी. एस. धनोआ ने भी श्री वाजपेयी के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी तथा रक्षामंत्री निर्मला सीतारामन ने भी श्री वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी।

VAJPAYEE

 

भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक और अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई और श्रीलंका के कार्यवाहक विदेश मंत्री लक्ष्मण किरैला ने श्री वाजपेयी को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। बांग्लादेश के विदेशमंत्री अब्दुल हसन महमूद अली और पाकिस्तान के विधिमंत्री अली जफर सहित अन्य विदेशी गणमान्य व्यक्ति अंत्येष्टि स्थल पर मौजूद रहे।

जैसे ही वाजपेयी जी के निधन का समाचार कल लोगों को मिला वैसे ही सैकड़ों की संख्या में लोग उन्हे श्रद्धांजलि देने के लिए उनके निवास स्थान पर पहुंचे। अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर आज सुबह उनके निवास स्थान से भाजपा मुख्यालय लाया गया, जहां बहुत से नेताओं और आम लोगों ने अपने प्रिय नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्हें आखिरी विदाई देने के लिए देश के कोने-कोने से बहुत से लोग दिल्ली पहुंचे। श्री वाजपेयी की शव यात्रा में हजारों की संख्या में आम लोग भी शामिल हुए और रास्ते में लोगों ने पार्थिव शरीर पर फूल बरसाये। इस दौरान रास्ते भर लोग नारे लगाते रहे- “जब तक सूरज चांद रहेगा, अटल जी का नाम रहेगा।” इस पूरी शव यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा पार्टी के तमाम बड़े नेता और मंत्री, पैदल ही पार्टी मुख्यालय से स्मृति स्थल तक पहुंचे, जहां श्री वाजपेयी का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। आनंद के साथ मैं दीपेन्‍द्र कुमार, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

उत्तर प्रदेश, हरियाणा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और दिल्ली के मुख्यमंत्री तथा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य नेता स्मृति स्थल पर उपस्थित थे। श्री वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद कल शाम दिल्ली के एम्स में निधन हो गया था।

————————–

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ अपनी यादों को साझा किया है। एक वीडियो संदेश में राष्ट्रपति ने कहा कि श्री वाजपेयी ने अपना पूरा जीवन राष्ट्र को समर्पित कर दिया। इस वीडियो में श्री कोविंद ने एक सांसद के रूप में श्री वाजपेयी के साथ अपने संबंधों का स्‍मरण किया है।
अटल जी का व्‍यक्तित्‍व एक महान व्‍यक्तित्‍व था। बरसों तक मुझे अटल जी का सानिध्‍य प्राप्‍त होता रहा। उनमें अंहकार की भावना दूर-दूर तक नहीं थी और मैं हमेशा सोचता था कि शायद सार्वजनिक जीवन का अंहकार मुक्‍त जीवन बहुत अच्‍छा होता है। ये मैंने उन्‍ही से सीखा है।

राष्ट्रपति ने अटल जी की दत्तक पुत्री श्रीमती नमिता कौल भट्टाचार्य को पत्र लिखकर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि अटल जी के निधन से उन्हें व्यक्तिगत क्षति हुई है। पत्र में श्री कोविंद ने कहा कि अटल जी के साथ उनकी अविस्मरणीय यादें जुड़ी हुई हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि लम्बे सार्वजनिक जीवन में श्री वाजपेयी करोड़ों लोगों से जुड़े हुए थे। वे एक प्रखर चिंतक, वक्ता, कवि, लेखक, सांसद और प्रधानमंत्री रहे। वे भारतीय राजनीति के एक युग थे। श्री कोविंद ने अपने पत्र में कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री वाजपेयी ने दबाव और चुनौतियों की परिस्थिति में भी सौम्य और निर्णायक नेतृत्व प्रदान किया। राष्ट्रपति श्री कोविंद ने कहा कि उदार हृदय वाले जननायक का देहांत न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व में गंभीरता से महसूस किया जाएगा।
————————–
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि देश के प्रति पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के महान योगदान का शब्दों में उल्लेख नहीं किया जा सकता। श्री वाजपेयी के अंतिम संस्कार के बाद संदेश में श्री मोदी ने कहा कि देश के विभिन्न भागों और समाज के प्रत्येक वर्ग के लोगों ने महान नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री मोदी ने कहा कि अटल जी हर भारतीय के दिलो-दिमाग पर छाये रहेंगे।

————————–
इस बीच, विश्‍व के विभिन्‍न देशों ब्रिटेन, रूस, अमरीका, जापान, बंगलादेश, श्रीलंका, चीन और नेपाल ने भी श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।

अमरीका में भारतीय समुदाय और संस्‍थानों ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के देहांत पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया है। अमरीकी भारतीय फाउंडेशन ने कहा है कि उनके संगठन को श्री वाजपेयी के देहांत की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ है।

——

चीन ने भी श्री वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी है। विदेश मंत्रालय के एक वक्तव्य में कहा गया है कि श्री वाजपेयी एक महान राजनेता थे। उन्होंने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया।

——

लोकप्रिय नेता के सम्मान में सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की गई। गृह मंत्रालय की विज्ञप्ति में कहा गया है कि पूरे देश में 22 अगस्‍त तक राष्ट्रीय ध्वज झुका रहेगा।

———

उत्‍तर प्रदेश में सभी वर्गों के लोगों ने अपने प्रिय नेता अटल बिहारी वाजपेयी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। हमारे लखनऊ संवाददाता ने खबर दी है कि राज्‍य सरकार ने श्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्‍मान में अनेक कार्यों की घोषणा की। विद्यार्थी, व्‍यापारी, राजनीतिक कार्यकर्ता और अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के लोगों ने बड़ी संख्‍या में राज्‍यभर में श्रद्धांजलि सभा में भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ad
Ad
Ad

MARQUEE

US school students discuss ways to gun control

             Students  discuss strategies on legislation, communities, schools, and mental health and ...

3000-year-old relics found in Saudi Arabia

Jarash, near Abha in saudi Arabia is among the most important archaeological sites in Asir province Excavat ...

Ad

@Powered By: Logicsart