इंडियन आवाज़     20 Apr 2018 04:43:00      انڈین آواز

कौन बनेगा उत्तर प्रदेश में बी जे पी का मुख्यमंत्री ?

सुधीर कुमार / AMN

अगर हम एक्जिट पोल को नतीजा मानकर चलें तो उत्तर प्रदेश में मोदी का जादू खूब चला कहा जा सकता है। अब उत्तर प्रदेश में अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इस बात को लेकर भाजपा के बड़े नेता अभी चुनाव नतीजों का इंतज़ार कर रहे हैं।

BJP UP masnifetoजानकार सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री का सपना संजोए भाजपा के भावी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार मसलन केशव प्रसाद मौर्य, योगी आदित्यनाथ, और राजनाथ सिंह अपने समर्थकों के माध्यम से अपना नाम उछलवाने में जुटे हैं। लेकिन मोदी की कार्यशैली ऐसी है कि अगला मुख्यमंत्री का अनुमान लगाना खतरे से खाली नहीं है। हमने देखा है कि हरियाणा में खटटर का नाम किस प्रकार चौंकाने वाला रहा, महाराष्ट्र में नीतिन गडकरी जैसे कई सरीखे दिग्गजों के दिल के अरमान दिल में ही रह गए और वहां मोदी ने एक युवा पर दांव खेलकर सबको भौंचक कर दिया ।

सवाल यहीं समाप्त नहीं होता। अटकलों का बाजार गर्म है। अगला मुख्यमंत्री कोई दलित होगा या ओबीसी? यह प्रश्न आज के संदर्भ में जितना प्रासंगिक है उतना ही महत्वपूर्ण आने वाले दो वर्षों के लिए भी है, क्योंकि 2019 के लोक सभा चुनावों में अब केवल दो वर्ष ही रह गये हैं । मुख्यमंत्री किस वर्ग से आते हैं उसका भी आने वाले दिनों में प्रभाव पड़ेगा।

अखिलेश ने मायावती को लेकर जैसा बयान दिया है उससे इतना तो साफ हो गया है कि अखिलेश को मायावती का साथ भी पसंद है ताकि भाजपा को सत्ता से बाहर रखा जा सके। ऐसे में बीजेपी के रणनीतिकार के सामने अगला मुख्यमंत्री का चेहरा चुनना आसान नहीं होगा ।

ऐसे में लगता है कि न ही राजनाथ सिंह और न ही योगी आदित्यनाथ की लॉटरी खुलने वाली है क्योंकि किसी सवर्ण को लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाना पैर पर कुल्हाड़ी मारने के सामान है । अब सवाल यह है कि क्या किसी दलित पर भाजपा दांव लगाएगी? हालांकि अभी ऐसा कोई चेहरा सामने तो नहीं आ रहा है लेकिन हो सकता है कि उत्तर प्रदेश में भी किसी ‘खटटर’ के ही सिर मुख्यमंत्री का ताज हो।

FOLLOW US ON TWITTER

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Archive

April 2018
M T W T F S S
« Mar    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30  

@Powered By: Logicsart